UP Bhagya Lakshmi Yojana Registration सरकार उस परिवार को 50,000 रुपये की आर्थिक मदद देती है।

UP Bhagya Lakshmi Yojana Registration

उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश) सरकार ने लड़कियों के सुरक्षित भविष्य के लिए भाग्यलक्ष्मी योजना शुरू की है। यूपी की योगी सरकार ने गरीब परिवारों में बच्चियों के जन्म को बढ़ावा देने के लिए यह योजना शुरू की है. इस यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के साथ, राज्य के लड़के और लड़कियों के अनुपात में भी सुधार होगा।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना पंजीकरण

उत्तर प्रदेश की भाग्य लक्ष्मी योजना का उद्देश्य लड़कियों के भविष्य को मजबूत करना, उनकी पढ़ाई में आर्थिक बाधाओं को दूर करना और राज्य में लड़कियों की संख्या को दूर करना है। यूपी सरकार की इस योजना के पीछे एक मकसद कन्या भ्रूण हत्या को रोकना भी है।

उत्तर प्रदेश में अगर किसी परिवार में लड़की का जन्म होता है

तो सरकार उस परिवार को 50,000 रुपये की आर्थिक मदद देती है। बेटी जब 21 साल की हो जाती है तो यह रकम 2 लाख रुपये हो जाती है। ध्यान रहे कि इस यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ उन परिवारों को मिलेगा जो गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) जीवन यापन कर रहे हैं।

भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत, यूपी सरकार बेटी के जन्म पर लड़की की मां को 50,000 रुपये और 5100 रुपये की राशि का बांड देती है। जब यह लड़की 21 साल की हो जाएगी तो उत्तर प्रदेश सरकार इस बांड के आधार पर बच्ची के माता-पिता को 2 लाख रुपये की राशि देगी। इसके अलावा बेटी कक्षा 6 में आती है तो 3,000 रुपये, कक्षा 8 में आने पर 5000 रुपये, 10वीं कक्षा के लिए 7,000 रुपये और 12वीं कक्षा के लिए 8,000 रुपये दिए जाते हैं।

भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए आवश्यकताएँ

  • यह योजना केवल वर्ष 2006 के बाद पैदा हुई बेटियों के लिए है।
  • बेटी के जन्म के एक माह के भीतर आंगनबाडी में पंजीयन कराना अनिवार्य है।
  • इस यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के लाभार्थी की 18 वर्ष की आयु से पहले बेटी नहीं हो सकती है।
  • लड़की को प्राइवेट स्कूल में नहीं बल्कि सरकारी स्कूल में पढ़ाना होगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए उत्तर प्रदेश का निवासी होना आवश्यक है।
  • इस योजना में केवल बीपीएल परिवार ही शामिल हो सकते हैं।
  • पारिवारिक आय 2 लाख रुपये प्रति वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • सरकारी कर्मचारी इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

ऐसे परिवार को मिलता है योजना का लाभ

उत्तर प्रदेश योजना का लाभ अलग-अलग किश्तों में दिया जाएगा। बेटी जब कक्षा छह में पहुंचती है तो उसके खाते में तीन हजार रुपए, आठवीं में पांच हजार रुपए, दसवीं कक्षा में सात हजार रुपए और बारहवीं कक्षा में आठ हजार रुपए दिए जाते हैं। इस यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ केवल उन्हीं परिवारों को मिलता है जो गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना पंजीकरण: पंजीकरण कैसे करें

भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपके पास उत्तर प्रदेश का निवास प्रमाण पत्र और जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए। लड़की के माता-पिता का आधार कार्ड, आय प्रमाण, पता प्रमाण, बैंक खाता आदि भी आवश्यक है। इन सभी दस्तावेजों में तथ्यों की जांच के बाद ही यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ मिलता है।

योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया: यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना पंजीकरण

आवेदन करने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा। इसे संलग्न करें। यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना आवेदन पत्र निकटतम आंगनवाड़ी केंद्र या निकटतम महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में जमा किया जा सकता है।

इन कागजों की होगी जरूरत

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत पंजीकरण के लिए यूपी निवास प्रमाण पत्र, लड़की का जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का आधार कार्ड, आय प्रमाण पत्र, घर का पता प्रमाण, बैंक खाता जैसे दस्तावेज आवश्यक हैं। . इस योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के परिवार ही उठा सकते हैं।

कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देखे 

PM Kisan Yojana Beneficiary List 2022: 12 करोड़ से अधिक किसानों के लिए अच्छी खबर है।

 PM Kisan Samman Nidhi Scheme केंद्र सरकार किसानों को हर साल 6000 रुपये की

UP Bhagya Laxmi Yojana 2022: बेटियों को मिलेंगे 50-50 हजार रुपये, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

E-SHRAM Card New Update 2022 : ई-श्रम कार्ड नया अपडेट जारी यहाँ से चेक करे 

Leave a Comment

Your email address will not be published.